21वीं सदी की तकनीकी से सूक्ष्म से सूक्ष्म जांच का परीक्षण स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए वरदान है दो जय हरि अग्रवाल

       जय हरि अग्रवाल

गाजियाबाद पटेल नगर एक संक्षिप्त वार्ता के अंतर्गत डॉक्टर एवं रेडियोलॉजिस्ट जय हरि अग्रवाल ने कहा की वर्तमान परिपेक्ष में स्वास्थ्य संबंधित सभी बीमारियों को लेकर 21वीं सदी की तकनीकी सूक्ष्म से सूक्ष्म जांच का परीक्षण करती है जिसका परिणाम वर्तमान स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए एक वरदान साबित हो रहा है आज एम्स से लेकर जितने भी बड़े अस्पताल देश और विदेश में कार्यरत  हैं उन सभी अस्पतालों के डॉक्टरों का विश्वास मरीजों के इलाज के प्रति विश्वसनीयता को  बढ़ावा देता है क्योंकि मरीज की बीमारियों की जांच का परीक्षण आज के युग में 100% तकनीकी रूप से सही प्रस्तुत किया जाता है एक रेडियोलॉजिस्ट के रूप में मेरा मानना है की एक्स-रे हो अल्ट्रासाउंड हो सीटी स्कैन हो  हो या कैंसर की तमाम बड़े रोगों की जांच प्रक्रिया है वह काफी विश्वसनीय हो चुकी है जिससे  डॉक्टर को मरीज का इलाज करने में जांच की रिपोर्ट पर काम करते हुए मरीज का इलाज करना काफी  लाभप्रद रहता है डॉक्टर जय हरि अग्रवाल ने कहा कि तकरीबन 2005 से मैं इस रेडियाोलॉजिस्ट के प्रोफेशन में कार्यरत हूं और मेरा विश्वास है की आने वाले समय में यह तकनीकी और अधिक विश्वसनीय होगी जिससे स्वास्थ्य का क्षेत्र और अधिक सकारात्मक रूप से आगे बढ़ेगा एक अन्य सवाल के जवाब में आपने कहा कि हमारे देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश ने देश में  एक क्रांतिकारी बदलाव ला चुके हैं और हर नागरिक का उन पर भरोसा काफी बढ़ चुका है और 2024 की आगामी चुनाव में हमारे देश की जनता नरेंद्र मोदी को ही तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाएगी 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर में भगवान राम की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा से संबंधित एक सवाल के जवाब में आपने कहा कि उस दिन पूरे विश्व में अंतरराष्ट्रीय दीपावली मनाई जाएगी और भारत देश का हर नागरिक हर्षोल्लास के साथ इस पर्व को मनाएगा और सबसे खुशी की बात यह है कि हम  सब इस प्राण प्रतिष्ठा के साक्षी बन रहे यह हम सब लोगों के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
राज्यपाल अनंदीबेन पटेल से से प्रशिक्षु IAS अफ़सरों नज की मुलाक़ात !!
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
गोवंश का संरक्षण एवं संवर्द्धन राज्य सरकार की प्राथमिकता - धर्मपाल सिंह
चित्र