संविधान और दलितों की सबसे बड़ी दुश्मन हैं मायावती - सैयद शकील

  

सैयद शकील 

     सहारनपुर। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव/पूर्व राज्यमंत्री  सैयद शकील अहमद ने मुसलमानों को मायावती द्वारा वोट न देने का दोष दिए जाने पर गहरी नाराज़गी दिखाते हुए कहा कि मायावती अपने गिरेबान में झांक कर बात करें, मायावाती ने पैसे के लोभ के कारण मान्यवर कांशीराम जी के मिशन को न सिर्फ़ बरबाद करने का काम किया। बल्कि दलितों की सबसे बड़ी आवाज़ बहुजान समाज पार्टी को भी पूरी तरह से बरबाद कर दिया। प्रत्येक सीट पर मोटी रकम लेकर योग्यविहीन   व्यक्तित्व को चुनाव लडाना न जीत पाने पर कार्यकर्ताओ या मुसलमानों पर दोष मढ़ना मायावती जी की आदत बन गई है। बसपा के वो सभी पुराने नेता व कार्यकर्ता जिन्होंने अपने खून पसीने से पार्टी खड़ी की थी, पार्टी से अलग- थलग हो गए । और मायावती ने बीएसपी को अपनी प्राईवेट लिमिटेड फर्म बनाकर रख दिया। मायावती के अहंकार और स्वार्थ की हद देखिए कि पार्टी के राष्ट्रीय कोर्डिनेटर आकाश आनन्द के एक बयान देने भर से इतनी बौखलाई कि आकाश आनन्द को न केवल सभी पदों से हटाया बल्कि अपना राजनीतिक वारिस भी नहीं रखा। आज दलित समाज यदि दोराहे पर खड़ा असहाय महसूस करता है तो उसकी पूरी तरह ज़िम्मेदार भी मायावाती जी हैं ।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
ईद उल अजहा की पुरखुलूस मुबारकबाद -अजय गुप्ता महासचिव केमिस्ट वेलफेयर एसोसिएशन
चित्र