एससी-एसटी आयोग के अध्यक्ष एवं पूर्व डीजीपी बृजलाल की पुत्रवधू अनिता कुमारी ने महिला थाने में दहेज उत्पीड़न समेत विभिन्न धाराओं में पति,सास ससुर ननद के ऊपर एफआइआर दर्ज कराई है।

 


                एससी-एसटी आयोग के अध्यक्ष एवं पूर्व डीजीपी बृजलाल की पुत्रवधू अनिता कुमारी ने महिला थाने में दहेज उत्पीड़न समेत विभिन्न धाराओं में पति,सास ससुर ननद के ऊपर एफआइआर दर्ज कराई है। बहू अनिता का आरोप है,कि दहेज में 20 लाख रुपये की मांग को लेकर उन्हें प्रताड़ित किया और मारपीट की।ससुरालीजन ने उसे एक मेडिकल फार्म पर हस्ताक्षर करने को दिया। फार्म में लिखा था कि वह अपना किडनी दान कर रही है और ऑपरेशन के दौरान उसकी जान भी जा सकती है।


              अनिता का आरोप है कि पूर्व डीजीपी की किडनी खराब हो रही थी, इसके लिए उसपर दबाव बनाया गया। आरोपितों ने कहा कि या तो किडनी दान करो या फिर 20 लाख रुपये ले आओ। असमर्थता जताने पर आरोपित उससे मारपीट करने लगे और कमरे में बंद कर देते थे।जबकि एससीएसटी आयोग अध्यक्ष बृजलाल का कहना है कि मुझे नहीं पता की एफआइआर हुई है। अनिता सिर्फ दो सप्ताह उनके घर पर रही थी। वह अपने साथ लाई सारा सामान लेकर वापस चली गईं। बेटे की शादी से पहले आठ मार्च 2017 को दिल्ली में मेरी किडनी ट्रांसप्लांट हुई थी। मुझपर और मेरे परिवार पर लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं।बृजलाल के अलावा उनके बेटे अपूर्व कृष्ण, पत्नी सरोज प्रसाद और बेटी संगीता के खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज हुई है।बता दें,गोरखपुर के एच पूर्वी बशारतपुर मेडिकल रोड निवासी अनिता के मुताबिक सेक्टर चार गोमतीनगर विस्तार निवासी बृजलाल के बेटे अपूर्व से नौ फरवरी 2018 को उनकी शादी बंधन मैरिज लॉन में हुई थी। आरोप है कि ससुरालवालों की मांग के मुताबिक घरवालों ने दहेज में नगदी, गहने और घरेलू सामान दिया था। दिए गए दहेज से ससुराल पक्ष खुश नहीं था। विवाह के अगले दिन आरोपितों ने अनिता से 20 लाख रुपये नगद लाने को कहा।


टिप्पणियाँ