जम्मू-कश्मीर में लोकसभा के साथ विधानसभा चुनाव न करवाना केंद्र की विफलता: मायावती


                               बसपा सुप्रीमो मायावती ने जम्मू-कश्मीर में लोकसभा चुनाव के साथ ही विधानसभा चुनाव न करवाने पर ट्वीट कर केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कश्मीर नीति पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आमचुनाव के साथ ही विधानसभा चुनाव न करवाना केंद्र सरकार की कश्मीर नीति की विफलता को ही दिखाता है। मायावती ने सवाल किया कि जो सुरक्षा बल लोकसभा चुनाव करा सकते हैं वही उसी दिन वहां विधानसभा चुनाव क्यों नहीं करवा सकते?


गौरतलब है कि सुरक्षा को देखते हुए जम्मू-कश्मीर की छह लोकसभा सीटों पर पांच चरणों में चुनाव करवाए जाएंगे। अतिसंवेदनशील मानी जाने वाली अनंतनाग लोकसभा सीट पर तो तीन चरणों में चुनाव होगा। अनंतनाग आतंकवाद से सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र है।

मायावती ने भाजपा द्वारा 2014 में दिए गए अच्छे दिनों के नारे पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि भाजपा राष्ट्रवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है लेकिन ये भी बताए कि गरीबों, मजदूरों, किसानों व बेरोजगारों से किए गए अच्छे दिन लाने वाले चुनावी वादों का क्या हुआ? उन्होंने तंज कसते हुए पूछा कि क्या हवा-हवाई विकास हवा खाने गया?


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
रूस में दो नए काउंसलेट खोलने का ऐलान, मॉस्को में बोले मोदी- भारत का विकास देख दुनिया भी हैरान
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र