टिकट पर दिखी PM मोदी की फोटो, रेलवे के 2 अधिकारियों पर गिरी गाज

बाराबंकी। लोकसभा चुनाव में प्रचार को लेकर चुनाव आयोग लगातार सख्त होता जा रहा है। सोमवार को कई नेताओं के प्रचार पर बैन लगाने के बाद आयोग की गाज रेलवे को दो कर्मचारियों पर गिरी और उन्हें सस्पेंड कर दिया गया। ट्रेन के टिकटों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर चस्पा करने पर रेलवे ने अपने 2 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है। आयोग ने इस तस्वीर को लेकर रेलवे विभाग को नोटिस जारी किया था।


जानकारी के मुताबिक, उत्तरप्रदेश के बाराबंकी रेलवे स्टेशन पर रेल टिकट पर पीएम मोदी की तस्वीर वाली टिकट यात्री को देने पर 2 कर्मचारियों पर कड़ी कार्रवाई करते हुए जांच बैठा दी है। वहीं रेल मंत्रालय के सूत्रों की मानें तो गंगा सतलज एक्सप्रेस (13308) के थर्ड एसी में टिकट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगी हुई थी। ये ट्रेन बाराबंकी से वाराणसी के लिए जा रही थी। इस पर बाद में बवाल हुआ था और चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई गई थी।


वहीं बाराबंकी के एडीएम ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया, ‘13 अप्रैल को शिफ्ट चेंज होने के बाद टिकट काउंटर पर प्रिंटिंग के लिए पुराने रोल का गलती से इस्तेमाल किया गया। रेलवे के 2 कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है और पूरे मामले की विभागीय जांच बैठा दी गई है।’


बता दें कि कुछ दिन पहले शताब्दी ट्रेन में बीजेपी के चुनावी नारे ‘मैं भी चौकीदार’ लिखे कप में चाय देने का मामला समाने आया था। खबरों के मुताबिक 29 मार्च को ट्रेन में जिन पेपर कप में चाय दी गई उन पर ‘मैं भी चौकीदार’ लिखा था। कप पर नीले और लाल रंग में ‘मैं भी चौकीदार’ मोटे-मोटे शब्दों में लिखा था, इसके नीचे छोटे शब्दों में आतंकवाद से देश की रक्षा करने का संदेश लिखा था। यह वाक्या काठगोदाम शताब्दी एक्सप्रेस में यात्रा कर रहे यात्रियों के साथ हुआ।


ट्रेन में यात्रा करने यात्रियों ने इस कप के साथ ट्वीट कर दिया, जिसके बाद यह सोशल मीडिया में वायरल हो गया। इस पूरे मामले के संज्ञान में आने के बाद रेलवे की तरफ से कहा गया कि उसने कप हटा लिए हैं और ठेकेदार को दंडित किया है। यात्रियों की तरफ से यह भी दावा किया गया कि ‘मैं भी चौकीदार’ लिखे कपों में दो बार चाय दी गई। हालांकि रेलवे की तरफ से बताया गया कि कुछ ही लोगों को कप में चाय दी गई थी। कप पर यह विज्ञापन एनजीओ ‘संकल्प फाउंडेशन’ की तरफ से दिया गया था।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
यूपी सरकार से तंग आ चुके हैं हम, वहां जंगलराज जैसी स्थितिः सुप्रीम कोर्ट
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र