गुजरात से गोरखपुर तक बिछेगी देश की सबसे लंबी एलपीजी पाइपलाइन

नई दिल्ली, अप्रैल (हि.स.)। गुजरात के कांडला से गोरखपुर तक घरेलू गैस पाइपलाइन बिछाई जाएगी। कांडला से गोरखपुर तक कुल 1,987 किलोमीटर लंबी गैस पाइपलाइन परियोजना देश की सबसे बड़ी गैस पाइपलाइन परियोजना होगी। इससे न सिर्फ घरेलू गैस की किल्लत दूर होगी बल्कि उज्ज्वला योजना से जुड़े उपभोक्ताओं को भी राहत मिलेगी। 
केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने हाल ही में कहा कि उत्तर प्रदेश में 25 एलपीजी बाटलिंग प्लांट हैं, जबकि 4-5 नए बाटलिंग प्लांट भी लगाए जा रहे हैं। प्रदेश की सबसे बड़ी मथुरा रिफाइनरी का विस्तारीकरण भी किया जाएगा। इसके अलावा, पूरे भारत में एक लाख एलपीजी पंचायतें स्थापित की जाएंगी। इस प्रोजेक्ट पर 9 हजार करोड़ रुपये खर्च होने की संभावना है। इस पाइपलाइन से 3.75 मिलियन टन गैस प्रति वर्ष गुजरेगी।


देश की सबसे लंबी गैस पाइप लाइन
सरकारी तेल कंपनी इंडियन ऑइल कॉर्प गुजरात तट से पूर्वी उत्तर प्रदेश के शहर गोरखपुर तक गैस पाइपलाइन बिछाएगी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इंडियन ऑइल कॉर्प कांडला में एलपीजी का आयात किया जाएगा। इसके बाद यहां से गैस को 1,987 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन के जरिए अहमदाबाद (गुजरात), उज्जैन (भोपाल), कानपुर, इलाहाबाद, वाराणसी और लखनऊ (उत्तर प्रदेश) होते हुए गोरखपुर तक पहुंचाएगी। अब तक करीब तीन करोड़ गरीब परिवारों की महिलाओं को उज्ज्वला योजना का लाभ मिल चुका है। राज्य में 1.25 करोड़ के लक्ष्य के मुकाबले अब तक 62 लाख गरीब महिलाओं को फायदा पहुंचाया जा चुका है।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
रूस में दो नए काउंसलेट खोलने का ऐलान, मॉस्को में बोले मोदी- भारत का विकास देख दुनिया भी हैरान
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र