सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश, कर्नाटक के बागी विधायक स्पीकर के सामने पेश हों

नई दिल्ली। कर्नाटक में राजनीति संकट गत 6 दिनों में लगातार रंग बदल रहा है। पहले 11 विधायकों ने इस्तीफा दिया। अब कुल 14 विधायकों का इस्तीफा हो गया है। इससे सरकार पर संकट में आ गई। बुधवार को भी दो कांग्रेस विधायकों ने इस्तीफा दे दिया। कर्नाटक के विवाद पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा। जिन 10 विधायकों ने इस्तीफा दिया है उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगाई है कि स्पीकर उनका इस्तीफा मंजूर नहीं कर रहे हैं।


LIVE अपडेट...
-सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के बागी विधायकों को शाम 6 बजे स्पीकर के सामने पेश होने का आदेश दे दिया है। कोर्ट ने कहा कि वह स्पीकर से मिलकर उन्हें अपने इस्तीफे का कारण बताएं। सुप्रीम कोर्ट ने स्पीकर से आज ही विधायकों के इस्तीफे पर निर्णय लेने को कहा है। इस मामले की अगली सुनवाई सुप्रीम कोर्ट शुक्रवार को करेगा।


- कर्नाटक के मुद्दे पर बेंगलुरु से दिल्ली तक बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। कर्नाटक में विधायक इस्तीफे पर इस्तीफे दे रहे हैं, तो वहीं दिल्ली में संसद भवन के बाहर राहुल गांधी धरने पर बैठ गए हैं। कांग्रेस के कई सांसद संसद परिसर में गांधी मूर्ति के बाहर धरना दे रहे हैं, इसमें राहुल गांधी भी शामिल हैं।


आज मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने भी अपनी कैबिनेट बैठक बुलाई है। अब सुप्रीम कोर्ट इस पर क्या निर्णय देते है, उस पर सबकी निगाहें हैं। सुप्रीम कोर्ट में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, दीपक गुप्ता और अनिरुद्ध बोस की बेंच इस मामले की सुनवाई होगी।


कांग्रेस की तरफ से अदालत में अभिषेक मनु सिंघवी, कर्नाटक के बागी विधायकों की तरफ से मुकुल रोहतगी पेश होंगे।
शुक्रवार को कर्नाटक विधानसभा का सत्र शुरू होना है, भाजपा इस सेशन को अवैध बता रही है। इस बीच कर्नाटक विधानसभा के आसपास धारा 144 लगा दी गई है। वहीं, स्पीकर रमेश कुमार का कहना है कि अभी तक उन्होंने कोई इस्तीफा मंजूर नहीं किया है। इसका एक नियम है, वह उसके अनुसार ही काम करेंगे।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
रूस में दो नए काउंसलेट खोलने का ऐलान, मॉस्को में बोले मोदी- भारत का विकास देख दुनिया भी हैरान
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र