UP: कैंसर संस्थान अक्टूबर तक होगा क्रियाशील, 1 करोड़ रुपये का बजट देने का निर्णय

लखनऊ, UP के कैंसर पीड़ित मरीजों को विशिष्ट चिकित्सकीय उपचार उपलब्ध हो तथा इस हेतु उन्हें मुम्बई एवं अन्य उच्च संस्थानों में न जाना पड़े, इस सम्बन्ध में प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा व प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन 'गोपाल जी' ने आज विधान भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष में निर्माणाधीन सुपर स्पेशियलिटी कैंसर संस्थान चक गंजरिया सिटी, लखनऊ को क्रियाशील करने के लिए डे-केयर ओपीडी, इन्डोर वार्ड, स्टाफ की व्यवस्था, सर्विसेज, रिक्त पदों की भर्ती, उपकरणों के क्रय, एईआरबी की अनुमति तथा निर्माण कार्यों की समीक्षा की।



चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने 02 आधुनिक माडूलर ओटी, अत्याधुनिक लिनियर एक्सलरेटर (कैंसर मरीजो की सिकाई के लिये) कैट स्कैन, पैथोलाॅजी सेवा तथा अन्य ओपीडी सेवाओं के साथ संस्थान को अक्टूबर, 2019 तक पूर्ण कालिक रूप से संचालन प्रारम्भ किये जाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। रेडियोथेरेपी के लिए 04 बैंकर का सिविल कार्य पूर्ण कर लिया गया है तथा 02 लिनियर एक्सलरेटर मशीन इस वित्तीय वर्ष में क्रय कर ली जायेगी। संस्थान में 21 कैंसर विशेषज्ञों की नियुक्ति कर ली गयी है तथा 10 अन्य विशेषज्ञों की नियुक्ति माह जुलाई, 2019 तक करने के निर्देश दिये गये। 02 चरणों में 100 नर्सेस की व्यवस्था 03 माह में कर ली जायेगी।



श्री टण्डन ने संस्थान में किचेन, हाॅउसकीपिंग, लाॅड्री, सीएसएसडी, बायोमेडिकल वेस्ट मैंनेजमेन्ट की व्यवस्था अगस्त तक करने तथा मरीजों के लिए शहीद पथ पर सुल्तानपुर क्रांसिग से संस्थान तक निशुल्क वाहन शटल सेवा संचालित किये जाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। अति आवश्यक संकाय, नर्सेस व कर्मचारियों के आवासों का निर्माण शीघ्र कराये जाने के लिए राजकीय निर्माण निगम को निर्देशित किया गया।



चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने अधिकारियों को टाटा मैमोरियल हाॅस्पिटल, मुम्बई के साथ हुये एमओयू के अनुसार चरणबद्ध तरीके से OPD, DAY-CARE एवं इन्डोर सेवा व आॅपरेशन सुनिश्चित किये जाने एवं SGPGI के पैटर्न पर गुणवत्तायुक्त दवाई हेतु एचआरएफ के शुभारम्भ हेतु निर्देशित किया।



कैंसर संस्थान को पहली बार असाध्य रोग के मद में रू. 1.00 करोड़ का बजट दिये जाने का निर्णय लिया गया, जिससे गरीब मरीजों का निःशुल्क इलाज किया जा सके। इसी के साथ कैंसर संस्थान, लखनऊ में आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत पंजीकरण कराते हुए योजना का शीघ्र कार्यान्वयन करने एवं सस्ती जेनेरिक दवा हेतु अमृत फार्मेसी का संचालन शीघ्र किये जाने के निर्देश दिये गये।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
यूपी सरकार से तंग आ चुके हैं हम, वहां जंगलराज जैसी स्थितिः सुप्रीम कोर्ट