भगवान करे पाकिस्तान जैसा पड़ोसी किसी को न मिले : रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह


नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र माेदी (Prime Minister Narendra Modi)की सरकार ने धारा 370 (Article 370) कमजोर करने के बाद जम्मू-कश्मीर में माहौल शांतिपूर्ण बना हुआ है। महाराजा हरि सिंह के बेटे और कांग्रेस नेता डॉ. करण सिंह ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने पर कहा कि केंद्र शासित प्रदेश के रूप में लद्दाख के उभरने का स्वागत किया जाना है। अनुच्छेद 35ए में लैंगिक भेदभाव को संबोधित करने की आवश्यकता है। जम्मू-कश्मीर के सभी वर्गों और क्षेत्रों का कल्याण हो यह मेरी मेरी एकमात्र चिंता है।



LIVE अपडेट....


- रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद बौखलाए पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है। राजनाथ ने कहा कि हमें सबसे बड़ी आशंका हमारे पड़ोसी को लेकर ही रहती है। भगवान न करें कि किसी को पाकिस्तान जैसा पड़ोसी मिले।


- राजनाथ ने कहा कि सबसे बड़ी आशंका तो हमें हमारे पड़ोसी के बारे में रहती है। समस्या यह है कि आप दोस्त बदल सकते हैं, लेकिन पड़ोसी का चुनाव आपके हाथ में नहीं होता है। और जैसा पड़ोसी (पाक) हमारे बगल में बैठा है, परमात्मा करे किसी को ऐसा पड़ोसी ना मिले।


-पाकिस्तान ने भारत की फिल्मों पर रोक लगा दी है। भारतीय फिल्में पाकिस्तान के सिनेमा हाल में प्रदर्शित नहीं होगी।


- दिल्ली से राज्य सभा सांसद गुलाब नबी आजाद और कांग्रेस नेता गुलाम अहमद मीर को श्रीनगर हवाई अड्‌डे पर पहुंचने पर रोक दिया गया है। रिपोर्ट्स के अनुसार, सरकार के विरोध में विपक्ष के नेता राज्य में विरोध प्रदर्शनों के लिए लोगों को उकसा सकते हैं। इसको ध्यान में रखते हुए उन्हें आगे जाने की इजाजत नहीं दी गई और अगली ही फ्लाइट से वापस भेज दिया गया।


इससे पहले स्थानीय पुलिस ने एहतिहात के तौर पूर्व मंत्री और डोगरा स्वाभिमान संगठन पार्टी के अध्यक्ष चौधरी लाल सिंह को नजरबंद कर दिया है। लाल सिंह पहले जम्मू के नेता हैं, जिन्हें नजरबंद कर दिया गया है। चौधरी लाल सिंह को जम्मू के गांधीनगर में उनके सरकारी आवास से निकलने की इजाजत नहीं दी है। जम्मू और कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने से पहले घाटी के नेताओं को नजरबंद किया गया था। इसमें महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला समेत अन्य नेताओं का नाम भी शामिल हैं।


वहीं नेशनल कॉन्फ्रेंस के वरिष्ठ नेता फारूक अब्दुल्ला ने कहा था कि कश्मीर घाटी में लोगों को कैद में लिया जा रहा है। उन्होंने कहा था कि उमर अब्दुल्ला जेल में हैं। उन्होंने कहा था कि हम ग्रेनेड या पत्थर फेंकने वाले नहीं हैं। भारत सभी के लिए लोकतांत्रिक, धर्मनिरपेक्ष है। हम बदलाव के लिए शांतिपूर्ण संकल्प में विश्वास रखते हैं।


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
रूस में दो नए काउंसलेट खोलने का ऐलान, मॉस्को में बोले मोदी- भारत का विकास देख दुनिया भी हैरान
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र