कानून का जन जागरण जनता तक पहुंचाना पड़ेगा- एडवोकेट उमा नंदन कौशिक


       एडवोकेट उमा नंदन कौशिक ,


नोएडा हिं.दै.आज का मतदाता विश्व हिंदू परिषद के विभाग मंत्री, लघु उद्योग भारती , गौतम बुध नगर के महामंत्री तथा विद्या भारती के सदस्य ,एडवोकेट उमा नंदन कौशिक ने आर्थिक जगत ,कानून व्यवस्था तथा करोना के साथ-साथ और करोना के  बाद भारतीय आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना पर एक संक्षिप्त वार्ता के अंतर्गत तमाम मुद्दों पर अपनी बात रखी और विशेष तौर पर सबसे बड़ी बात यह रखी कि बहुत आवश्यक है कि सरकार हर तरीके से आम जन जन तक कानून की जानकारी जन जागरण एवं अन्य माध्यमों से अवश्य पहुंचाएं यदि यह जागरूकता मिशन सही मायने में सभी के पास सार्थक रूप से पहुंच जाता है तो मेरा पूर्ण विश्वास है कि खास तौर पर कानून जैसे विषय पर आम व्यक्ति अपने को थोड़ा मजबूत समझेगा और कोई भी गलती करने के पूर्व कई बार सोचेगा। आपने कहा कि यदि जन-जागरण मिशन जैसे-जैसे संपूर्णता की ओर अग्रसारित होकर आगे बढ़ता जाएगा वैसे ही वैसे हमारे न्याय प्रक्रिया के न्यायालयों पर लंबित केस का दबाव धीरे धीरे कम होना प्रारंभ हो जाएगा जिसका परिणाम यह होगा कि लोगों को न्याय भी जल्दी मिलेगा ।आपने कानून प्रक्रिया पर सबसे मजबूत बिंदु जिससे केस का निर्णय निश्चित होता है, गवाह की गवाही, उसे प्रथम स्तर पर ही वीडियो रिकॉर्डिंग के माध्यम से मजिस्ट्रेट के सामने सुरक्षित रख लेना चाहिए जिससे न्याय के प्रति और अधिक पारदर्शिता आए और यदि उस रिकॉर्डिंग से भिन्न गवाहअपने को बदलने की कोशिश करता है तो उस पर आईपीसी की धारा 182 के तहत कार्यवाही करनी चाहिए। लघु उद्योग भारती के महामंत्री पद की जिम्मेदारी के दृष्टिकोण से अपने देश की आर्थिक व्यवस्था के ऊपर टिप्पणी करते हुए बहुत ही सकारात्मक जवाब दिया कि चाइना की व्यवस्था शीघ्र ही पाकिस्तान की तरह खोखली हो जाएगी क्योंकि धीरे-धीरे चाइनीस प्रोडक्ट के बाजार समाप्त होते जा रहे हैं  जिसमें भारत सबसे प्रमुख है ।भारतीय अपने को करोना जैसे विषम परिस्थिति में भी व्यवसायिक तौर पर निखारने की कोशिश में लगे हुए हैं और अब वह दिन दूर नहीं जब घर घर में उद्योग होगा, घर-घर में रोजगार होगा , जिससे आने वाले 2022 तक भारतीय अर्थव्यवस्था विकसित देश की श्रेणी में शामिल हो जाएगी। उमा नंदन कौशिक ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी कि  नए भारत की उदय की परिकल्पना जरूर साकार होगी जिसे आम जनमानस का शत प्रतिशत सहयोग भी प्राप्त हो रहा है अंत में एक सवाल के जवाब में आप ने कहा कि आज पूरे विश्व का भारतीय बाजार पर ध्यान केंद्रित है जिसके कारण शत प्रतिशत आत्मनिर्भर भारत का सपना अवश्य पूरा होगा


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
रूस में दो नए काउंसलेट खोलने का ऐलान, मॉस्को में बोले मोदी- भारत का विकास देख दुनिया भी हैरान
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र