आज देश में मजबूत और विश्वसनीय नेतृत्व है- एडवोकेट राजीव शर्मा

     


           राजीव शर्मा


हिं.दै.आज का मतदाता नई दिल्ली दिल्ली टैक्स बार एसोसिएशन के पूर्व सचिव राजीव शर्मा ने एक वार्ता के अंतर्गत बताया कि वर्तमान केंद्रीय नेतृत्व मजबूत और विश्वसनीय है आपने इस कथन को इस रूप में स्पष्ट किया कि पूर्व में धारा 370 धारा 35a या राम जन्मभूमि का  निर्णय क्यों नहीं आया आज निर्णय सरकार और सुप्रीम कोर्ट के द्वारा आया है तो मै सुप्रीम कोर्ट और देश की केंद्रीय नेतृत्व दोनों को ही इसका श्रेय देना चाहूंगा l अधिवक्ता राजीव शर्मा ने देश में चल रहे वर्तमान मुद्दों पर अपनी बहुत ही जिम्मेदारी पूर्वक बात रखी और चर्चा की और सभी प्रश्नों का उत्तर दिया और कहा कि वर्तमान कानूनी परिपेक्ष में यदि आज के जनमानस को न्याय विलंब से मिल रहा है तो यह चिंतनीय है भावी युवा पीढ़ी को हम विरासत में यह विलंब से न्याय प्रक्रिया को सौंपकर नहीं जाना चाहेंगेl आप ने केंद्र सरकार और कानून मंत्रालय से यह अपील किया है कि शीघ्र से शीघ्र ऐसी व्यवस्था को लागू किया जाए जिससे न्याय जल्दी मिलेl आप ने कहा कि यदि कोर्ट में डिजिटल व्यवस्था के साथ-साथ और वादों के एक्ट मैं सरकार द्वारा समय का सुनिश्चित करण कर दिया जाता है, फास्ट ट्रेक कोर्ट, जज की नियुक्ति बढ़ाई जाती है तथा गवाहों की मजिस्ट्रेट के सामने वीडियो रिकॉर्डिंग की जाती है तो न्याय प्रक्रिया में जल्दी होना सुनिश्चित हो जाएगी l राजीव शर्मा ने वर्तमान काल में  देश में आर्थिक मंदी को बड़ी चुनौती माना लेकिन इसके लिए काफी हद तक  विश्व की आर्थिक व्यवस्था को भी जिम्मेदार ठहराया, क्योंकि आज बहुत सारी वस्तुएं अंतरराष्ट्रीय बाजार की मूल्यों पर निश्चित होती है करोना काल में आम जनमानस पर ब्याज को सरकार माफ कर दे तो जनहित में रहेगा आपने वर्तमान आर्थिक मंदी की चुनौती को दूर करने के लिए सक्रिय रूप से वर्तमान बैंकिंग प्रणाली की समीक्षा कर उसमें मूलभूत परिवर्तन की मांग की और कहा कि सरकार शीघ्र से शीघ्र सभी बैंकों के ऊपर और आरबीआई के नेतृत्व में एक ऐसी केंद्रीय निगरानी संस्थान बनाए जो बैंकों द्वारा जारी कर्जे एवं अन्य वित्तीय स्थितियों की समीक्षा प्रतिमाह करके सरकार को यह स्पष्ट करें कि युवा एवं नए एमएसएमई सेक्टर को किन किन कारणों से लोन की उपलब्धता नहीं हो पा रही है एमएसएमई सेक्टर आगे बढ़ेगा तो निश्चित ही आर्थिक क्षेत्र में मांग की बढ़ोतरी होगी और हम धीरे-धीरे विकसित देश की ओर बढ़ेंगे l  आपने एक बुनियादी सवाल के जवाब में कहा कि जिन क्षेत्रों में भारतीय उद्योग विदेशों पर निर्भर है उस क्षेत्रों को चिन्हित करके सरकार उस उद्योगों को छोटे एवं मझोले उद्योग कर्मी को सम्मिलित करके देश के बड़े औद्योगिक इकाइयों का मार्गदर्शन लेकर अपने ही देश में स्थापित करें तथा उसे एमएसएमई सेक्टर द्वारा संचालित करें तभी ही विदेशों पर हमारी निर्भरता समाप्त होगी और मोदी  की आत्म निर्भर भारत की परिकल्पना साकार होगीl अंत में एक सभी विषयों को जोड़ कर रखा गया प्रश्न के उत्तर में आपने कहा कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कठोर एवं देश हित में अनेक प्रयोग के द्वारा भारत देश को विकासशील देश से विकसित देश बनाना चाहते हैं और हम सभी भारतवासी को इस बात पर गर्व है कि हमें ऐसे प्रधानमंत्री का कुशल नेतृत्व प्राप्त है


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
रूस में दो नए काउंसलेट खोलने का ऐलान, मॉस्को में बोले मोदी- भारत का विकास देख दुनिया भी हैरान
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र