सरकार ने अप्रत्याशित खर्चों के साथ-साथ देश को भी संभाल लिया - सीए मोहित सिंघल


                          सीए मोहित सिंघल


 हिं.दै.आज का मतदाता मोदीनगर सीए मोहित सिंघल एक चार्टर्ड अकाउंटेंट के साथ-साथ आर्थिक और सामाजिक क्षेत्रों में अपनी अभिव्यक्ति बहुत ही बारीकी से रखते हैं और समाज की सामाजिकता को सर्वोपरि रखते हुए राष्ट्रहित को सदैव सर्वोपरि मानते हैं आपने एक संक्षिप्त वार्ता के अंतर्गत बताया कि भारत देश के साथ-साथ पूरे विश्व को  एक विशेष नई दिशा एवं ऊर्जा देने वाले यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्वव्यापी मंदी करोना कि वैश्विक आपदा के कारण कई क्षेत्रों में आई अप्रत्याशित खर्चों को करने के बाद चाइना की कूटनीति को दरकिनार करते हुए भारतीयों में आत्मस्फूर्ति के जन्म देने के साथ-साथ समस्त देशवासियों में आत्मनिर्भर भारत की दिशा में आगे बढ़ने के लिए प्रेरणा स्रोत बन कर सभी को एक साथ आगे ले जाने का संकल्प एक संघर्ष सहित इतिहास के साथ खुशनुमा वर्तमान ने जन्म दिया है जिसके लिए मैं पूरा का पूरा श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देना चाहता हूं  और जिसका परिणाम या हुआ की मोदी  ने इस करोना काल में समस्त अप्रत्याशित खर्चों के साथ-साथ भारत और भारतवासियों को भी संभाल लिया, आपने भारतीय अर्थव्यवस्था पर अनेक सवालों के जवाब में कहा कि शीघ्र ही भारतीय अर्थव्यवस्था मजबूती के दौर में लौटेगी l सीए मोहित सिंघल ने विदेशों से कई दशकों से चली आ रही इंपोर्ट वस्तुओं की समीक्षा पर अपनी बात रखी और कहा कि भारत देश भारतीय निर्माण में कई वस्तुओं का इंपोर्ट करता है जिससे वह अपनी वस्तुओं को निर्माण कर देश व विदेश में बेचता है सरकार एक निर्णायक कदम उठाते हुए जिन वस्तुओं का इंपोर्ट रोक दिया है उसकी पूर्ण समीक्षा करें जिसे निर्माण क्षेत्र में हो रही बाधा दूर हो सके l सीए मोहित सिंघल ने बहुत कम शब्दों में अपनी बात रखते हुए कहा कि मोदी सरकार ने नोटबंदी ,जीएसटी एवं लॉकडाउन आदि क्षेत्रों में जो दिशानिर्देश लागू किया वह देश के भविष्य के लिए एक अच्छा प्रयोग है जिसका परिणाम शीघ्र ही जनमानस के समक्ष आएगा


टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
स्वास्थ्य के प्रति हमेशा सजग रहे डॉक्टर नीतिका शुक्ला
चित्र