2022 विधानसभा चुनाव में अखिलेश और जयंत चौधरी की सरकार बनेगी, अमरजीत सिंह

 

अमरजीत सिंह

हिंदी दैनिक आज का मतदाता गाजियाबाद गोविंदपुरम पूर्व पार्षद निर्दलीय वार्ड नंबर 60 ,से अमरजीत सिंह ने एक संक्षिप्त वार्ता के अंतर्गत कहा कि आज देश की जनता भारतीय जनता पार्टी के शासन से खुश नहीं है लोगों को रोजगार नहीं मिल रहा है और जो उनका व्यापार था वह भी धीरे-धीरे खत्म हो रहा है समाज से भाईचारा को चुनौती मिल रही है यही नहीं भारतीय लोकतंत्र जो सदैव सर्वोपरि रहा है आज संसद में जो घटनाएं देखने को मिल रही है उसे लग रहा है कि लोकतंत्र को  बचाने की जरूरत है ,अमरजीत सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश आगामी विधानसभा चुनाव 2022 में निश्चित तौर पर योगी सरकार अपना बोरिया बिस्तर बंद कर  लेगी और समाजवादी के मुखिया मुलायम सिंह यादव और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह तथा अजीत सिंह के पुत्र जयंत चौधरी की साझा सरकार उत्तर प्रदेश में बनेगी । अमरजीत सिंह ने कहा कि अभी कुछ दिन पूर्व वार्ड नंबर 60 के निवासियों को बुनियादी सुविधा   देने के उद्देश्य मेरी वर्तमान पार्षद अमित डबास से चर्चा हुई और चर्चा के उपरांत वार्ड नंबर 60 के कुछ क्षेत्रों में सड़क के कार्य के साथ-साथ टाइल्स लगाने के  कार्य का शुभारंभ हो चुका है ,और जो शीघ्र ही पूरा हो जाएगा । मैं वर्तमान पार्षद अमित डबास का तथा गाजियाबाद की मेयर आशा शर्मा और नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तवर का क्षेत्र की जनता की सुविधा के लिए प्रारंभ किए गए कार्यों के प्रति हार्दिक अभिनंदन और धन्यवाद करता हूं ,और उम्मीद रखता हूं कि आने वाले समय में और भी बुनियादी विकास कार्यों को प्रारंभ करते हुए उसे शीघ्र पूरा करने का निर्णय लिया जाएगा। अमरजीत सिंह ने कहा कि आगामी 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर सभी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं और मेरी सभी जनमानस से अपील है की इस दिन आम नागरिक स्वतंत्रता दिवस  को सबसे बड़े पर्व के रूप में मनाए न की छुट्टी के रूप में। आपने कहा कि ऐसा करने से लोगों में राष्ट्र के प्रति प्रेम की भावना मजबूत होगी और हर व्यक्ति अपने हर कार्य को राष्ट्रहित से जोड़कर देश की तरक्की में अपना योगदान देगा।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
यूपी सरकार से तंग आ चुके हैं हम, वहां जंगलराज जैसी स्थितिः सुप्रीम कोर्ट
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र