पेट्रोल और डीजल को जीएसटी में शामिल किया जाए ,एडवोकेट अरविंद गुप्ता,

 

एडवोकेट अरविंद गुप्ता, 

गाजियाबाद गाजियाबाद टैक्सेशन बार के संयुक्त सचिव एडवोकेट अरविंद गुप्ता ने एक संक्षिप्त वार्ता के अंतर्गत कहा कि आज तक के इतिहास में पेट्रोल और डीजल कभी भी इतने महंगे नहीं थे आज इनकी कीमतें आसमान छू रहे हैं, आपने कहा कि तकरीबन 2 वर्षों से करोना का प्रकोप और बढ़ती बेरोजगारी की दर तथा कारोबारियों का दिन प्रतिदिन कारोबार के प्रति रुचि का कम होना  एक यथार्थ और सच्चाई है, जबकि  बड़ी-बड़ी ऑटो इकाई से लेकर हर क्षेत्र की मैन्युफैक्चरिंग यूनिट वर्तमान परिपेक्ष में बंद होती जा रही हैं जिससे कार्यरत उस यूनिट से सीधे कर्मचारी के अलावा उसको रॉ मैटेरियल सप्लाई करने वाले अनेक छोटे-छोटे औद्योगिक इकाई और उसके कर्मचारी बेरोजगार हो गए हैं, जिसके कारण आम आदमी की कमाई कम हो गई है उसके आय का साधन धीरे-धीरे कम होता जा रहा है , ऐसी स्थिति में पेट्रोल और डीजल एक ऐसी वस्तु  है जिससे कि बहुत सारे उत्पादक वस्तुओं का मूल्य निर्धारण होता है और आम लोगों के यातायात का पेट्रोल और डीजल मुख्य बिंदु भी है, इसलिए  सरकार पेट्रोल और डीजल को शीघ्र जीएसटी के अंदर शामिल करें, एडवोकेट अरविंद गुप्ता ने कहा कि यदि पेट्रोल और डीजल जीएसटी के अंतर्गत शामिल हो जाते हैं तो पेट्रोल और डीजल का दाम कम होगा जिससे आम नागरिकों की जेब में थोड़ी राहत मिलेगी, आपने कहा कि सरकार पेट्रोल और डीजल को महत्वपूर्ण वस्तुओं में शामिल करते हुए शीघ्र निर्णय लें और जल्द से जल्द पेट्रोल और डीजल को जीएसटी सूची में शामिल करें।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
यूपी सरकार से तंग आ चुके हैं हम, वहां जंगलराज जैसी स्थितिः सुप्रीम कोर्ट
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र