किसानों से बोले टिकैत- हमने मोदी और योगी को वोट दिया मगर वो खरे नहीं उतरे, अब विरोध में करेंगे महापंचायत

 


 नोएडा में हरियाणा और पंजाब के कई गांव से किसान धरना दे रहे हैं। जहां पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। इस दौरान पुलिस द्वारा किसान प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया गया है।

जिनमें महिलाएं भी शामिल थी। इससे दो दिन पहले भी पुलिस द्वारा सैकड़ों किसानों को गिरफ्तार किया गया था।


इस मामले में भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि इतना मुश्किल समय आ गया है। कहां से बात शुरू करें और कहां खत्म करें।इस सब में हम भी दोषी हैं। हमने भी इस सरकार को वोट दिए हैं। एक वोट हमने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए लोकसभा चुनाव में दिया।

एक वोट हमने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में योगी आदित्यनाथ को दिया। इन्होंने जनता को हसीन सपने दिखाए थे।

हम ये नहीं कह सकते कि भाजपा को वोट देकर हम पछता रहे हैं। क्योंकि हमने ही इनकी बातें सुनकर पार्टी को वोट दिया था। लेकिन ये अपनी किसी भी बातों पर खरे नहीं उतर रहे हैं।

बता दें, 5 सितंबर को हरियाणा में किसान महापंचायत का आयोजन किया जाएगा। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत किसान महापंचायत की तैयारियों का जायजा लेने राजकीय इंटर कॉलेज मैदान पहुंचे थे।गौरतलब है कि किसान नेता राकेश टिकैत और उनके भाई नरेश टिकैत कई मौकों पर किसान आंदोलन के लंबा चलने के संकेत दे चुके हैं।

5 सितंबर को होने वाली महापंचायत के बारे में नरेश टिकैत का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी को इस देश की फिक्र नहीं है।

लगभग 10 महीने से आंदोलन चल रहा है कई सौ अरब खर्च हो चुके हैं। अगर सरकार मान जाती तो ऐसी नौबत ही ना आती।

बताया जा रहा है कि 25 सितंबर को संयुक्त किसान मोर्चा की तरफ से तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर भारत बंद का आवाहन किया गया है। जिसे कई वामपंथी दलों द्वारा भी समर्थन दिया जा रहा है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
यूपी सरकार से तंग आ चुके हैं हम, वहां जंगलराज जैसी स्थितिः सुप्रीम कोर्ट
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र