BJP नेताओं ने लेखपालों को घर में घुसकर पीटा, सपा ने पूछा- इन गुंडों का मकान कब ढहाया जाएगा योगीजी?

 


उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी अक्सर देखने को मिलती रहती है।

इस बार अलीगढ़ के छर्रा में भाजपा नेता के बेटे और लेखपालों में हुआ विवाद सुर्खियों में बना हुआ है।खबर के मुताबिक, इस विवाद में अब लेखपाल संगठन में आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

दरअसल भाजपा के मंडल अध्यक्ष और उनके परिवार वालों ने लेखपालों के घर में घुसकर मारपीट और तोड़फोड़ की है। इस घटना से गुस्साए दर्जनों लेखपाल कल थाने पहुंचे थे।

इस मामले में तहसील अध्यक्ष ने भी सीओ छर्रा से मुलाकात कर कार्रवाई की मांग की है। वही तहसील उपाध्यक्ष द्वारा में लेखपालों के साथ किए गए इस बर्ताव और मारपीट की घटना की जमकर निंदा की है।

समाजवादी पार्टी ने भी ट्विटर के जरिए भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “सत्ता के नशे में चूर भाजपाई बेलगाम! अलीगढ़ में भाजपा के मंडल अध्यक्ष ने लेखपालों को घर में घुसकर पीटा, शर्मनाक एवं घोर निंदनीय घटना!गुंडई पर उतारू भाजपा मंडल अध्यक्ष का कब ढहाया जाएगा मकान? जवाब दीजिए मुख्यमंत्री जी। हो सख़्त कार्रवाई।

बताया जाता है कि भाजपा नेता के बेटे द्वारा लेखपालों के साथ मारपीट किए जाने के बाद जब मौके पर पुलिस पहुंची। तो पुलिस के सामने भी उसने लेखपालों को जान से मारने की धमकी दी।

जिसका वीडियो थी सामने आया है। घायल लेखपालों द्वारा पुलिस में शिकायत किए जाने के बाद कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है।

लेखपालों द्वारा पुलिस प्रशासन को चेतावनी दी गई है कि अगर 48 घंटों के अंदर आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की गई। तो पूर्ण कार्य बहिष्कार किया जाएगा।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं की इस तरह की दबंगई पहली बार देखने को नहीं मिली है।उत्तर प्रदेश में योगी सरकार बनने के बाद ऐसी कई घटनाएं प्रदेश में घटती आई है। लेकिन अब भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी आने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी के लिए मुसीबत बन सकती है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
यूपी सरकार से तंग आ चुके हैं हम, वहां जंगलराज जैसी स्थितिः सुप्रीम कोर्ट
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र