सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस: काफी समय से फरार कुणाल जानी को एनसीबी ने किया गिरफ्तार

 

मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद इंडस्ट्री में ड्रग्स के इस्तेमाल करने को लेकर बड़े-बड़े खुलासे हुए थे. जिसमें सुशांत सिंह राजपूत के करीबी दोस्त होटल व्यवसायी कुणाल जानी का नाम सामने आया था. जिसके बाद से वह फरार चल रहा था. लेकिन हाल ही में एनसीबी ने उसे मुंबई के खार एरिया से गिरफ्तार कर लिया है. अब उम्मीद की जा रही है कि कुणाल के गिरफ्तार होने के बाद ड्रग्स केस में कुछ नए खुलासे हो या फिर सुशांत केस में ही कोई नई जानकारी ही मिले.

दरअसल, कुणाल, सुशांत के निधन के बाद से ही फरार था, ऐसे में अगर अभी कुणाल कोई बड़ी जानकारी देते हैं तो हो सकता है सुशांत के बारे में भी कोई नई जानकारी मिले.

बता दें कि 14 जून को सुशांत सिंह राजपूत अपने घर में मृत पाए गए थे. सुशांत के निधन से बॉलीवुड इंडस्ट्री को बड़ा झटका लगा था. इसके बाद एक्टर के केस की जांच शुरू हुई और फिर धीरे-धीरे इस केस की जांच 3 एजेंसी ने की. सीबीआई, एनसीबी और ईडी ने केस की जांच की.

जांच के दौरान ही एनसीबी ने बॉलीवुड ड्रग्स एंगल निकाला. इसके बाद कई सेलेब्स के नाम इसमें आए जिसमें दीपिका पादुकोण, सारा अली खान, श्रद्धा कपूर और रकुल प्रीत जैसी बड़ी एक्ट्रेसेस के नाम शामिल थे. हालांकि जब इन एक्ट्रेसेस से पूछताछ की गई तो सभी ने कबूला की वे ड्रग्स नहीं लेती थीं

सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती को ड्रग्स केस में गिरफ्तार भी हो गई थीं. कुछ समय जेल में रहने के बाद हालांकि बाद में उन्हें बेल मिल गई थी.

कॉमेडियन भारती सिंह और उनके पति हर्ष लिंबाचिया भी ड्रग्स केस में गिरफ्तार हुए थे. दोनों के घर पर जब एनसीबी ने रेड मारी थी तो उनके घर में कम मात्रा में ड्रग्स मिले थे. दोनों पति-पत्नी कुछ दिन जेल में रहे थे, फिर कुछ दिनों में उन्हें बेल मिल गई थी. तो इस तरह ड्रग्स एंगल सामने आने के बाद इंडस्ट्री में ड्रग्स के यूज करने को लेकर बड़े-बड़े खुलासे हुए.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
आवारा पशुओं से जान का जोखिम बढ़ जाता है कुलभूषण त्यागी
चित्र
मतदान लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व है एडवोकेट अरविंद गुप्ता
चित्र