लखीमपुर हिंसा में मारे गये कार्यकर्ता को भाजपा देगी शहीद का दर्जा

 

लखीमपुर खीरी : उत्तर प्रदेश के कानून मंत्री यूपी ब्रजेश पाठक ने लखीमपुर खीरी में तिकुनिया हिंसा में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता को शहीद को दर्जा देने का ऐलान किया है. उन्होंने कहा कि भाजपा शुभम को अपनी पार्टी में शहीद का दर्जा देगी. दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा.

दरअसल ब्रजेश पाठक ने लखीमपुर खीरी में तिकुनिया हिंसा में मारे गए केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के ड्राइवर हरिओम मिश्रा और बीजेपी के मंडल मंत्री शुभम मिश्रा के परिवार से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने परिवारों को न्याय का भरोसा दिलाया साथ ही सभी मांगें पूरी करने की बात कही.

वहीं उन्होंने घटना में मारे गए जिले के अन्य 4 लोगों के परिजनों से मुलाकात नहीं की. इसमें दो किसान नछत्तर सिंह और लवप्रीत सिंह के अलावा बीजेपी कार्यकर्ता श्याम सुंदर निषाद और पत्रकार रमन कश्यप शामिल हैं. बता दें घटना में मारे गए दो अन्य किसान गुरविंदर सिंह और दिलजीत सिंह बहराइच जिले के निवासी हैं.

इस दौरान बृजेश पाठक ने कहा कि शुभम डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को रिसीव करने जा रहे थे. बीजेपी उन्हें अपनी पार्टी में शहीद का दर्जा देगी. कार्रवाई हो रही है. दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. जल्द गिरफ्तारियां होंगी. बीजेपी सदैव शुभम के परिवार के साथ खड़ी है. वहीं घटना में मारे गए अन्य लोगों के परिवार से मुलाकात के सवाल पर बृजेश पाठक ने कहा कि हालात सामान्य होने पर वह मिलने जरूर जाएंगे.

 


बाकी लोगों के परिजनों से मुलाकात नहीं करने पर बृजेश पाठक का कहना था कि बीजेपी कार्यकर्ता श्याम सुंदर निषाद और पत्रकार रमन कश्यप के परिजनों से भी मुलाकात करेंगे, चूंकि वह घटनास्थल के करीब रहते हैं, इसलिए वह इलाके में स्थितियां सामान्य होने पर वहां का दौरा करेंगे. वहीं किसान परिवारों से मुलाकात को लेकर भी उन्होंने कहा कि एक बार स्थितियां सामान्य हो जाएं तो वह उन परिवारों से भी बात करेंगे.

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
रूस में दो नए काउंसलेट खोलने का ऐलान, मॉस्को में बोले मोदी- भारत का विकास देख दुनिया भी हैरान
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र