लखीमपुर में मारे गए किसान लवप्रीत सिंह के पिता बोले- हत्यारे को गिरफ्तार नहीं किया गया, हम खुश नहीं हैं

 


उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों के साथ हुई हिंसा के बाद पीड़ित किसानों से मिलने जा रही कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है।

सीतापुर में पीएसी गेस्ट हाउस को अस्थाई जेल में तब्दील कर प्रियंका गांधी को वहां पर रखा गया है। जहां कांग्रेस समर्थकों द्वारा जमकर विरोध किया जा रहा है।

दरअसल प्रियंका गांधी ने भाजपा नेता अजय मिश्रा के बेटे द्वारा किसानों पर गाड़ी चढ़ाने की वीडियो को शेयर करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया था कि आरोपी की गिरफ्तारी और मंत्री की बर्खास्तगी अभी तक क्यों नहीं हुई है?

 


अब एक बार फिर प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने इस हिंसा में मारे गए किसान लवप्रीत के पिता के साथ एनडीटीवी की बातचीत का एक स्क्रीनशॉट शेयर कर लिखा है कि सरकार द्वारा दावे किए जा रहे हैं कि अब तक की गई कार्रवाई से मृतक किसानों के परिजन संतुष्ट हैं।

भाजपा नेता द्वारा की गई हिंसा में मारे गए लवप्रीत के पिता का कहना है कि हम इस बात से बिल्कुल भी खुश नहीं है कि अब तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है।

बताया जाता है कि इस हिंसा में मारे गए 19 वर्षीय किसान लवप्रीत सिंह ने मरने से पहले अपने पिता को अस्पताल बुलाया था। लेकिन इससे पहले कि इनकी मुलाकात हो पाती। लवप्रीत की मौत हो गई।एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक हिंसा में मारे गए लवप्रीत के पिता ने बताया है कि मेरे बेटे को कार के नीचे कुचल कर मार दिया गया।

इस मामले में दोषी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। कार्रवाई करने की जगह पूरा प्रशासन इस मामले पर लीपापोती करने में लगा हुआ है।

आपको बता दें कि हिंसा में मारे गए किसानों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताया गया है कि किसी भी किसान को गोली नहीं लगी। बल्कि मौत का कारण सदमा और ब्रेन हेमरेज है।दूसरी तरफ पर सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें देखा जा सकता है एक एसयूवी कार ने किसान प्रदर्शनकारियों को कुचला है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
मतदान लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व है एडवोकेट अरविंद गुप्ता
चित्र
एलआईसी विश्वास और पारिवारिक सुरक्षा ,उज्जवल भविष्य और सम्मान का प्रतीक है प्रशांत वशिष्ठ,
चित्र