त्रिपुरा में मुसलमानों पर हमले के पीछे भाजपा सरकार का हाथ है ताकि चुनावों में ध्रुवीकरण का फायदा ले सके: चंद्रशेखर

 


भाजपा शासित त्रिपुरा में अल्पसंख्यक समुदाय पर हिंसा की खबरें सामने आई है। खबर के मुताबिक, कई मुस्लिम व्यापारियों की दुकानों को जला दिया गया है। इसके साथ ही कई मस्जिदों पर भी हमला किया गया है।

बताया जाता है कि यह हिंसा हिंदूवादी संगठन विश्व हिंदू परिषद की एक रैली के बाद हुई है।

दरअसल बांग्लादेश में हुई दुर्गा पूजा के दौरान हिंसा के विरोध में 26 अक्टूबर को विश्व हिंदू परिषद द्वारा एक रैली निकाली गई थी।

इस दौरान कुछ मुस्लिम व्यापारियों के घरों और दुकानों में तोड़फोड़ कर उनमें आग लगा दी गई। इसके साथ ही इलाके में स्थित मस्जिद में भी तोड़फोड़ की गई है।इस मामले में भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने भाजपा सरकार पर हमला बोला है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “त्रिपुरा में जिस तरह से मुस्लिम समाज को निशाना बनाकर साम्प्रदायिक उन्माद फैलाया जा रहा है, वह स्पष्ट तौर पर राज्य पोषित हिंसा है।

BJP देश को नफरत की आग में झोंक रही है ताकि आगामी चुनावों में ध्रुवीकरण करके अपनी सत्ता बचा सकें। यह शर्मनाक है। पीड़ितों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए।”

हिंसा मामले में स्थानीय पुलिस ने बताया है जी विश्व हिंदू परिषद की रैली में करीब 3500 कार्यकर्ता शामिल थे।


हालांकि अभी तक इस मामले में कोई भी गिरफ्तारी नहीं हुई है। जबकि इस हिंसा के बाद इलाके में तनावपूर्ण माहौल बनने के चलते धारा 144 लागू कर दी गई है।

राज्य के कई लोगों का मानना है कि 26 अक्टूबर को विश्व हिंदू परिषद की रैली के बाद राज्य के कई इलाकों में हिंसक घटनाएं हो रही हैं। खास तौर पर राज्य के मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा है।बताया जाता है कि बीते एक हफ्ते में त्रिपुरा में अब तक इस तरह की 21 घटनाएं घटी हैं।जिनमें से 15 मामले राज्य के अलग-अलग मस्जिदों में तोड़फोड़ किए जाने के हैं। जबकि दूरदराज के इलाकों में 3 मस्जिदों को पूरी तरह से बर्बाद किया गया है।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
रूस में दो नए काउंसलेट खोलने का ऐलान, मॉस्को में बोले मोदी- भारत का विकास देख दुनिया भी हैरान
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र