यूपी में गन्ना किसानों को 10 रुपये प्रति कुंटल बोनस देने की तैयारी

 


लखनऊ : चुनाव अचार संहिता लगने से पहले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गन्ना किसानों को लेकर बड़ी घोषणा कर सकते हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रदेश के करीब 50 लाख गन्ना किसानों को योगी सरकार 10 रुपये प्रति कुंटल बोनस दे सकती है.

गौरतलब है कि इसी साल सरकार ने गन्ना के न्यूनतम समर्थन मूल्य में 25 रुपये प्रति कुंटल का इजाफा किया था. हालांकि चार साल बाद महज 25 रुपये की बढ़ोत्तरी से किसान नाखुश थे.

बता दें कि पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरुण गांधी भी गन्ना किसानों को 400 रुपये प्रति कुंटल एमएसपी देने की मांग कर चुके हैं. सांसद वरुण गांधी ने सोशल मीडिया ट्वीटर के माध्यम से लिखे अपने पत्र में कहा कि प्रदेश सरकार ने गन्ना मूल्य बढ़ाकर 350 रुपए प्रति क्विंटल कर दिया, इसके लिए धन्यवाद, लेकिन इस पर फिर से विचार करने की जरूरत है. उन्होंने गन्ना मूल्य कम से कम 400 रुपए प्रति क्विंटल करने की मांग की है. उन्होंने यह भी कहा कि अगर ऐसा नहीं हो पाता तो 50 रुपये प्रति क्विंटल का बोनस घोषित रेट के ऊपर अलग से देने की कृपा करें. वरुण गांधी इससे पहले भी सरकार के नाम लिखे अपने पत्र में ऐसी मांग कर चुके हैं.

उधर गन्ना किसानों को बोनस देने के मामले में समाजवादी पार्टी की तरफ से सरकार पर तीखा हमला किया है. समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि चुनाव में हार देखकर अब बीजेपी को किसानों का सम्मान याद आ रहा है. यह वही बीजेपी यह जिसने और खालिस्तानी बताया था. किसानों को गाडी से कुचला गया. अब किसान इनके झांसे में नहीं आने वाला और वोट की चोट से बीजेपी को सबक सिखाएगा.

साल के अंत में मुख्यमंत्री कर सकते हैं बस अड्डे का लोकार्पण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मथुरा को अंतरराज्यीय बस अड्डे की सौगात दे सकते हैं. हाईवे पर बने नए बस अड्डे का लोकार्पण साल के अंत में मुख्यमंत्री कर सकते हैं. उनके साथ प्रदेश के परिवहन मंत्री अशोक कटारिया भी लोकार्पण में शिरकत कर सकते हैं. मालूम हो कि तीन दिन पहले रथ यात्रा को हरी झंडी दिखाने के दौरान मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर आईएसबीटी में ही उतरना था लेकिन अचानक बदलाव होकर वृंदावन पवनहंस पर उतरा था.

अगर मुख्यमंत्री फिर आते हैं तो उनका यह 20वां दौरा होगा. करीब 17 करोड़ रुपये से हाईवे पर गोकुल रेस्टोरेंट तिराहे के पास अंतरराज्यीय बस अड्डा बनकर तैयार हो गया है. बस अड्डे का लोकार्पण होना ही रह गया है। तीन दिन पहले परिवहन निगम के एमडी नवदीप रिनवा ने बस अड्डे का निरीक्षण करके कार्य को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए थे. एमडी का अचानक बस अड्डे का जायजा लेना लोकार्पण की तरफ ही इशारा कर रहा है.

दिसंबर के अंतिम सप्ताह में 26 या 27 को मुख्यमंत्री योगी अमृत महोत्सव व श्रीबांकेबिहारी दर्शन के लिए वृंदावन में आने की संभावना है. मुख्यमंत्री से अंतरराज्यीय बस अड्डे का लोकार्पण भी कराने की संभावना है. प्रदेश के परिवहन मंत्री अशोक कटारिया ने बताया कि उन्होंने लोकार्पण मुख्यमंत्री से कराने की बात कही.

इतना जरूर है कि परिवहन निगम द्वारा लोकार्पण दिसंबर के अंतिम सप्ताह में होने कराने की पूरी योजना तैयार कर चुका है. नया अंतरराज्यीय बस अड्डा बनने से शहर को जाम से काफी हद तक राहत मिलेगी. शहर में बस अड्डे से बसें सवारी लेकर जाती हैं. बेतरतीब खड़ी इन बसों के कारण जाम भी लगता है

आए दिन लगने वाले जाम से लोगों काफी परेशान होते हैं. शहर के भूतेश्वर, महोली रोड,, कृष्णानगर और गोवर्धन चौराहे पर जाम के हालत हो जाते थे लेकिन अब हाईवे पर बनने वाले इस अंतरराज्यीय बस अड्डे से जाम के हालत नहीं बनेंगे. एआरएम नरेश चंद गुप्ता ने बताया कि बस अड्डा बनकर तैयार हो गया है. जल्द ही लोकार्पण होगा.
टिप्पणियाँ