गौरव: एनडीए में एक हजार से अधिक बेटियां पास

 


नई दिल्ली : राष्ट्रीय रक्षा अकादमी की प्रवेश परीक्षा में महिलाओं ने पहली बार में ही जबरदस्त प्रदर्शन किया है. 1 हजार से अधिक महिलाओं ने इस परीक्षा को पास कर लिया है. यह पहली बार है जब महिला उम्मीदवार 14 नवंबर को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा आयोजित परीक्षा में शामिल हुईं थीं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार परीक्षा में सफल कुल 8 हजार उम्मीदवारों में से एक हजार से अधिक केवल महिला उम्मीदवार हैं. 1,002 महिला उम्मीदवार अब सेवा चयन बोर्ड और उनके चिकित्सा जांचों में शामिल होंगी. हालांकि इनमें 19 अगले साल के एनडीए के पाठ्यक्रम के लिए शॉर्टलिस्ट होंगी.

बता दें कि 14 नवंबर 2021 को संघ लोक सेवा आयोग(यूपीएससी) की तरफ से परीक्षा का आयोजन किया गया था. जिसमें पहली बार महिला उम्मीदवारों को शामिल होने का मौका दिया गया था.

दरअसल पहली बार एनडीए में 20 महिला कैडेटों को शामिल किया जा रहा है. इससे भारतीय सेना, नौसेना और भारतीय के वायु सेना में अधिकारी के रुप में महिलाएं अपनी सेवा देंगी. एनडीए अगले साल कुल 400 कैडेटों की नियुक्ति करने वाला है. जिसमें से सेना में 10 महिला सहित पूरे 208 उम्मीदवारों को लिया जाएगा. वहीं, नौसेना में 3 महिला सहित 42 उम्मीदवार तो वहीं, भारतीय वायुसेना में 6 महिला समेत 120 उम्मीदवारों लिया जाएगा. बता दें कि इसी साल सितंबर में सुप्रीम कोर्ट के आदेश बाद एनडीए 2021 की परीक्षा में महिला उम्मीदवारों को परीक्षा देने की अनुमति दी गई थी.

वहीं, रक्षा मंत्रालय ने इसी सोमवार को संसद में जानकारी देते हुए बताया कि एनडीए प्रवेश परीक्षा के लिए कुल 1.77 लाख से अधिक महिला उम्मीदवारों का आवेदन मिला था. वहीं, रक्षा मंत्रालय के अनुसार एनडीए की प्रवेश परीक्षा के लिए पूरे 5 लाख 75 हजार 856 आवेदन प्राप्त हुए, जिनमें 1 लाख 77 हजार 654 महिला उम्मीदवार थे. रक्षा मंत्रालय ने यह भी बताया कि महिला उम्मीदवारों के प्रशिक्षण के लिए जरूरी बुनियादी ढांचा और सुविधाएं मौजूद हैं.

गौरतलब है कि हर साल चार एनडीए प्रवेश और संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षाओं के लिए छह लाख से अधिक उम्मीदवार आवेदन करते हैं. परीक्षाएं यूपीएससी द्वारा आयोजित की जाती हैं. सितंबर में, सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया था कि महिलाओं को इस साल से ही एनडीए में शामिल किया जाना चाहिए. हालांकि केंद्र की मांग थी, इसे अगले साल से शुरू किया जाए, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था.

टिप्पणियाँ