सीएम योगी ने विधानसभा को किया संबोधित, सतीश महाना को विधानसभा अध्यक्ष बनने की दी बधाई

 


लखनऊ,: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जीत के बाद पहली बार विधानसभा को संबोधित किया. उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष पद पर सतीश महाना के निर्विरोध निर्वाचन के मौके पर विधानसभा में अपनी बात रखी. इस दौरान उन्होंने सतीश महाना को विधानसभा अध्यक्ष बनने की बधाई दी. उन्होंने इसे लोकतंत्र की एक स्वस्थ परंपरा करार दिया.

सीएम योगी ने कहा कि सत्ता पक्ष और विपक्ष लोकतंत्र के दो पहिए हैं और दोनों मिलकर ही सकारात्मक भाव के साथ प्रदेश की जनता का विकास कर सकते हैं. हमने चुनाव के दौरान देखा कि नेताओं ने एक दूसरे पर खूब आरोप-प्रत्यारोप किए. हम कह सकते हैं कि जनता कभी भी नकारात्मकता को स्वीकार नहीं करती है. हमेशा प्रगतिशील सोच को स्थान देती है. जो सकारात्मक होगा वो अंगीकार किया जाएगा.मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अभी मार्च के पहले हफ्ते में ही दोनों तरफ से मिसाइलें चल रही थीं, लेकिन यह भारतीय लोकतंत्र की खूबसूरती ही है. यह भारत में ही सम्भव है कि राजनीतिक मतभेद चाहे जितने हों, हम मिलकर लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए काम करते रहें.

सीएम योगी ने सतीश महाना को दी बधाई

मुख्यमंत्री ने विधानसभा अध्यक्ष की प्रशंसा करते हुए कहा कि आपका आठवीं बार विधायक के रूप में चुना जाना एक बड़ी बात है. जो कि आपके द्वारा किए गए जन कार्यों को दिखाता है. आपने औद्योगिक विकास मंत्री रहते हुए निवेश के करीब साढ़े तीन लाख प्रस्तावों को जमीन पर उतारने में परिश्रम किया. इस पद पर चुने जाने के लिए आपको बधाई और शुभकामनाएं. मुख्यमंत्री ने सभी विधायकों को भी चुने जाने के लिए बधाई दी.

मुख्यमंत्री ने इस दौरान बीजेपी के केशरीनाथ त्रिपाठी और दो बार स्पीकर रहे सपा के माता प्रसाद पांडेय का विशेष तौर पर जिक्र किया. सीएम ने कहा कि यह हमारे लिए गौरव और खुशी का पल है. हमें यूपी की 25 करोड़ जनता के हितों के संवर्धन के लिए सोचना है.

अखिलेश यादव ने दी बधाई

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और विपक्ष के नेता अखिलेश यादव ने भी सदन को संबोधित किया. उन्होंने सतीश महाना को बधाई दी. अखिलेश यादव ने पूर्व अध्यक्षों का नाम लेते हुए कहा कि इन सभी न्याय और निष्पक्षता का साथ देते हुए इस पद की गरिमा को बरकरार रखा है. आप भी ऐसा ही करेंगे. उन्होंने कहा कि पहले कोई भी विधानसभा अध्यक्ष नहीं बनना चाहता था. मगर आपको मैं इसके लिए बधाई देता हूं कि आप छिपे नहीं. हमें उम्मीद है कि जब विपक्ष के लोग सवाल उठाएंगे तो आप उन्हें पूरा मौका देंगे.

टिप्पणियाँ