सड़कों पर न हो अतिक्रमण, सीएम योगी ने अधिकारियों को दिए निर्देश

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उच्चस्तरीय टीम-09 के अफसरों को निर्देश दिया कि सड़कों पर अतिक्रमण की समस्या को समाप्त किया जाये. स्थानीय प्रशासन के अधिकारीगण व्यापार मंडलों के साथ संवाद कर इसका समाधान सुनिश्चित कराएं. पटरी व्यवसायियों के लिए स्थान का चिन्हांकन करते हुए उनके पुनर्वास की विधिवत व्यवस्था की जाए. इसके अलावा व्यापारियों से संवाद बनाकर यह सुनिश्चित कराएं कि हर दुकान अपनी सीमा के भीतर ही हो.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यातायात विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को विशेष तौर पर फील्ड में जाने को कहा. उन्होंने कहा कि शासन स्तर के विभागीय अधिकारी जिलों में जाएं. पार्किंग, यातायात आदि की व्यवस्थाओं का आकलन करें. स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर व्यापारियों से संवाद करें.

अवैध वाहन स्टैंड को समाप्त कराया जाए

इसके अलावा अवैध टैक्सी स्टैंड, बस स्टैंड, रिक्शा स्टैंड आदि को तत्काल समाप्त कराया जाए. ऐसे स्टैंड पर अवैध वसूली और माफिया/आपराधिक प्रवृत्ति के तत्वों की संलिप्तता होती है, इनकी पहचान कर बिना विलम्ब कठोरतम कार्रवाई की जाए. उन्होंने कहा कि पार्किंग की स्थायी जगह सुनिश्चित करें.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हर विकास प्राधिकरण/नगरीय निकाय में टाउन प्लानर की तैनाती की जाए. परियोजनाओं का निर्धारण करते समय आगामी 50 वर्षों की स्थिति को ध्यान में रखें. अवैध कॉलोनियों को विकसित न होने दें.

कोविड टीकाकरण अभियान की प्रगति पर जताया संतोष

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड टीकाकरण अभियान की प्रगति पर संतोष जताया. उन्होंने कहा कि प्रदेश में 32 करोड़ 31 लाख से अधिक कोविड टीकाकरण के साथ ही 18+ आयु की पूरी आबादी को टीके की कम से कम एक डोज लग चुकी है, जबकि 91.22प्रतिशत से अधिक वयस्क लोगों को दोनों खुराक मिल चुकी है.

यह संतोषप्रद है कि 15-17 आयु वर्ग के 96प्रतिशत किशोरों और 12 से 14 आयु वर्ग के 80प्रतिशत से अधिक बच्चों को टीके की पहली खुराक दी जा चुकी है. पात्र लोगों को टीके की दूसरी खुराक समय से दिया जाए. 18+ आयु के लोगों को बूस्टर डोज दिए जाने में तेजी की अपेक्षा है. बूस्टर डोज की महत्ता और बूस्टर टीकाकरण केंद्रों के बारे में आमजन को जागरूक किया जाए.

टिप्पणियाँ