जनता की अदालत सबसे बड़ी अदालत है- लोकदल
लखनऊ।लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सुनील सिंह ने आज दिनांक 24 मार्च 2023 को राहुल गांधी के न्यायपालिका द्वारा 2 वर्ष की सजा दिए जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि न्यायपालिका दबाव में है। हमारा लोकतंत्र खतरे में है, क्योंकि न्यायपालिका, चुनाव आयोग, ईडी पर दबाव है और उन सभी को दुरुपयोग किया जा रहा है। आज का फैसला भी इसी प्रभाव में है। इस तरह की टिप्पणी आम है।

इस प्रकार की सजा को जनता की अदालत में सौंप देना चाहिए। जनता की अदालत सबसे बड़ी अदालत है। उपनाम (मोदी) लेना यह किस प्रकार का अपराध है जिसमें यह कार्रवाई हुई। श्री सिंह ने आगे कहा है कि इस प्रकार की घटना विपक्षी नेताओं और पार्टियों को खत्म करने की साजिश को दिखाता है सरकार की पूरी मशीनरी साम-दाम-दंड-भेद लगाकर नेताओं की आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा है कि राहुल गांधी की सजा न्यायपालिका पर सवाल खड़ा करता है? स्पष्ट करता है कि इस प्रकार की घटना में तानाशाही रवैया अपनाया जा रहा है। जो कुछ देश में हो रहा है वह जनता देख रही है और जनता इसको लेकर फैसला लेगी।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र
स्वास्थ्य के प्रति हमेशा सजग रहे डॉक्टर नीतिका शुक्ला
चित्र
रूस में दो नए काउंसलेट खोलने का ऐलान, मॉस्को में बोले मोदी- भारत का विकास देख दुनिया भी हैरान
चित्र