प्रधानमंत्री ने गुरुग्राम, हरियाणा में द्वारका एक्सप्रेस-वे के हरियाणा राज्य से गुजरने वाले भाग सहित विभिन्न राज्यों के लिए 01 लाख करोड़ रु0 से अधिक लागत की 114 सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया

  प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने आज गुरुग्राम, हरियाणा में द्वारका एक्सप्रेस-वे के हरियाणा राज्य से गुजरने वाले भाग सहित विभिन्न राज्यों के लिए 01 लाख करोड़ रुपये से अधिक लागत की 114 सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इसके तहत लखनऊ रिंग रोड परियोजना का लोकार्पण तथा कानपुर रिंग रोड परियोजना का शिलान्यास भी सम्पन्न हुआ। रक्षा मंत्री भारत सरकार श्री राजनाथ सिंह जी व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान से इस कार्यक्रम में वर्चुअल रूप से सम्मिलित हुए। तत्पश्चात केन्द्रीय रक्षा मंत्री जी तथा मुख्यमंत्री जी द्वारा जनपद लखनऊ के विकास से सम्बन्धित राज्य सरकार की लगभग 3,666 करोड़ रुपये लागत की 206 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया। इसके अन्तर्गत अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय, उत्तर प्रदेश स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज व डी0आर0डी0ओ0 के रक्षा प्रौद्योगिकी एवं परीक्षण केन्द्र का उद्घाटन किया गया।





प्रधानमंत्री जी ने कहा कि देश ने आज आधुनिक कनेक्टिविटी की तरफ एक बड़ा और महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है। द्वारका एक्सप्रेस-वे से दिल्ली-हरियाणा की बीच यातायात का अनुभव हमेशा के लिए बदल जाएगा। केन्द्र सरकार जिस रफ्तार से काम कर रही है, उसमें शिलान्यास व लोकार्पण के लिए समय कम पड़ रहा है। वर्ष 2024 का अभी 03 माह भी पूरा नहीं हुआ है, मात्र मेरे द्वारा अब तक 10 लाख करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया जा चुका है। हमारी सरकार जिस काम का शिलान्यास करती है, उसे समय पर पूरा करने के लिए उतनी मेहनत भी करती है।प्रधानमंत्री जी ने कहा कि समस्या और सम्भावना में केवल सोच का फर्क होता है। समस्याओं को सम्भावनाओं में बदल लेना मोदी की गारण्टी है। द्वारका एक्सप्रेस-वे इसका बेहतरीन उदाहरण है। 21वीं सदी का भारत व्यापक विजन एवं बड़े लक्ष्यों का भारत है। आज का भारत प्रगति की रफ्तार से कोई समझौता नहीं कर सकता। हमें तेज गति व अधिक मेहनत से वर्ष 2047 तक हिन्दुस्तान को विकसित भारत बनाना है। इसी रफ्तार को बढ़ाने के लिए हमने दिल्ली-एन0सी0आर0 में होलिस्टिक विजन के साथ इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेन्ट का कार्य शुरु किया। बड़े प्रोजेक्ट्स को तय समय-सीमा में पूरा करने का लक्ष्य रखा। द्वारका एक्सप्रेस-वे, पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे, ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे जैसे बड़े प्रोजेक्ट्स तय समय में पूरे किये। जेवर में इण्टरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण तीव्र गति से हो रहा है। दिल्ली-एन0सी0आर0 में विगत 10 वर्षां में 230 किलोमीटर से अधिक नई मेट्रो लाइनें शुरु हुई हैं। इन सभी परियोजनाओं से यातायात आसान व सुगम होगा। साथ ही, दिल्ली-एन0सी0आर0 में प्रदूषण की समस्या में भी कमी आएगी।प्रधानमंत्री जी ने कहा कि विकसित होते भारत में आधुनिक इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण और देश में कम होती गरीबी, दोनों आपस में जुड़े हुए हैं। जब एक्सप्रेस-वे ग्रामीण इलाकों से होकर गुजरते हैं, गांवों को अच्छी सड़कों से जोड़ा जाता है, तो गांव में अनेक नये अवसर लोगों के घर के दरवाजे तक पहुंच जाते हैं। आज सस्ते डाटा, कनेक्टिविटी के डिजिटल इन्फ्रास्ट्रचर के कारण गांवों में नई सम्भावनाओं का जन्म हो रहा है। भारत अपनी इसी प्रगति की शक्ति से विश्व की 11वीं बड़ी अर्थव्यवस्था से 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। देश में तेजी से हो रहे इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेन्ट के कारण भारत तेजी से दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है।प्रधानमंत्री जी ने कहा कि पहले इन्फ्रास्ट्रक्चर की घोषणा चुनाव जीतने के लिए होती थी, अब चुनाव में इन्फ्रास्ट्रक्चर के काम पूरे होने की बात होती है। यही नया भारत है। पहले डिले होते थे, अब डिलीवरी होती है। पहले विलम्ब होता था, अब विकास होता है। एक्सप्रेस-वेज के किनारे आज इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर बन रहे हैं। नयी कम्पनियां, नयी फैक्ट्रियां स्किल्ड युवाओं के लिए रोजगार लेकर आ रही हैं। देश के मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर को ताकत मिल रही है। यह कार्य सही नीयत और विकास के विजन से होते हैं। अगले 05 वर्षां में विकास की यह गति कई गुना तेज होगी तथा इस नींव पर बुलन्द इमारत बनाने का कार्य होने वाला है। यह मोदी की गारण्टी है।रक्षा मंत्री भारत सरकार श्री राजनाथ सिंह जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रदेश को अप्रतिम ऊंचाई देने का कार्य किया है। प्रदेश में सकुशल सम्पन्न समस्त विकास कार्यों का श्रेय मुख्यमंत्री जी को जाता है। आज लखनऊ के विकास का सर्वाधिक महत्वपूर्ण दिन है। जनपद लखनऊ में अवध चौराहे पर अण्डर पास, गोसाईगंज-बनी-मोहान मार्ग पर अनूपगंज में पड़ने वाली रेलवे क्रासिंग पर 04 लेन आर0ओ0बी0, किसान पथ से भटगांव डिफेंस नोड पार्सल सम्पर्क मार्ग, पक्का पुल से डालीगंज एवं गोमती नदी के ब्रिज तक 02 लेन आर0ओ0बी0 कम फ्लाईओवर, हनुमान सेतु से समतामूलक चौराहे तक सीधे रोड कनेक्टिविटी के लिए निशातगंज से कुकरैल नदी के ऊपर एक 04 लेन ब्रिज, एस0जी0पी0जी0आई0 परिसर में 500 बेड के एडवांस पीडियाट्रिक सेन्टर (फेज -1) ग्रीन कॉरिडोर के अन्तर्गत निशातगंज में सेतु का शिलान्यास किया जा रहा है।
रक्षा मंत्री जी ने कहा कि इस शुभ दिन पर लखनऊ नगर के चारों ओर 5,500 करोड़ रुपए की लागत से 104 किलोमीटर 08 लेन की आउटर रिंग रोड का लोकार्पण किया जा रहा है। इस रिंग रोड के प्रारम्भ होने से प्रतिदिन लगभग 01 लाख वाहन लखनऊ शहर के बाहर से गुजर जाएंगे। इससे नगरवासियों को जाम से मुक्ति मिलेगी। यह आउटर रिंग रोड लखनऊ नगर के आर्थिक विकास की गति को तीव्रता प्रदान करेगा। आउटर रिंग रोड के किनारे बहुत सारी योजनाएं प्रस्तावित हैं। उन्होंने लखनऊवासियों से कानपुर हाईवे से हरदोई मार्ग तक 15 दिन तक भारी वाहन न चलाने की अपील की। लखनऊ-कानपुर हाईवे पर 06 लेन के 66 किलोमीटर लम्बे एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य प्रगति पर है। कानपुर हाईवे को बनी तक 06 लेन चौड़ा किया जा चुका है। अगले वर्ष एक्सप्रेस-वे निर्माण पूरा हो जाने के पश्चात लखनऊ से कानपुर की दूरी केवल 40-45 मिनट में पूरी की जा सकेगी।
रक्षा मंत्री जी ने कहा कि पर्यटकों के भारी संख्या में आवागमन के कारण होटल उद्योग और विशेषज्ञ चिकित्सा सुविधा हेतु हॉस्पिटल इकाइयां बड़ी संख्या में स्थापित होंगी। किसी ने कल्पना नहीं की थी, कि उत्तर प्रदेश की धरती पर ब्रम्होस मिसाइल बनेगी। यह कार्य बहुत शीघ्र ही पूरा होगा। लखनऊ में इस इकाई की स्थापना से 100 से अधिक सहायक औद्योगिक इकाईयां व आई0टी0 सेक्टर से जुड़ी इकाईयां भी स्थापित होंगी। इससे युवाओं को बड़ी संख्या में रोजगार प्राप्त होंगे। विश्वस्तरीय नाईट फ्रैंक एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार लखनऊ नगर, शहरी क्षेत्रों की भूमि के मूल्य में उच्चतम वृद्धि करने वाले विश्व के 10 शहरों में सम्मिलित है।रक्षा मंत्री जी ने कहा कि आन्तरिक परिवहन व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए लगभग 20 फ्लाईओवरों को स्वीकृति प्रदान की गई है, इनमें 12 फ्लाईओवरों का निर्माण हो चुका है। शेष स्वीकृत फ्लाईओवर शीघ्र बन जाएंगे। मुंशी पुलिया और खुर्ररमनगर के फ्लाईओवर आगामी अप्रैल माह तक पूरे हो जाएंगे। लखनऊ में कल अन्तरराष्ट्रीय हवाई उड़ान के लिए एक विश्वस्तरीय टर्मिनल (टर्मिनल बिल्डिंग-03) का उद्घाटन किया गया है। डी0आर0डी0ओ0 के रक्षा प्रौद्योगिकी एवं परीक्षण केन्द्र का आज शुभारम्भ सम्पन्न हो गया है। लखनऊ छावनी के निवासियों के लिए भी विभिन्न विकास कार्य सम्पन्न हुए हैं। लखनऊ में आयोजित 02 दिवसीय कौशल महोत्सव के माध्यम से 6,300 युवाओं को नियुक्ति पत्र प्राप्त हुए हैं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज प्रधानमंत्री जी ने देश को राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की 01 लाख करोड़ रुपए की परियोजनाओं की सौगात दी है। रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह जी ने लखनऊवासियों को हजारों करोड़ रुपए की परियोजनाओं का उपहार दिया है। हम सभी को लखनऊ में विकास का बेहतरीन मॉडल देखने को मिल रहा है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि रक्षा मंत्री जी ने अटल जी के सपने व उनकी संकल्पना को धरातल पर अक्षरशः उतारने का कार्य किया है। शहीद पथ का निर्माण तब हुआ था, जब रक्षा मंत्री जी भारत सरकार में सड़क परिवहन मंत्री थे। लखनऊ ने जो यशस्वी नेतृत्व प्रदान किया है। यह न केवल देश की रक्षा को सुनिश्चित कर रहा है, बल्कि लखनऊ को एक मॉडल सिटी व स्मार्ट सिटी के रूप में स्थापित करते हुए लोगों के सामने नित नए प्रतिमान स्थापित कर रहा है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि लखनऊ में जाम की समस्या का पूरी तरह समाधान होने जा रहा है। आज किसान पथ की सौगात लखनऊवासियों को प्राप्त हो रही है। इसके साथ ही लखनऊ विकास प्राधिकरण, लखनऊ में एक ग्रीन कॉरिडोर का निर्माण कर रहा है, जो गोमती नदी के तट को सम्मिलित करते हुए शहीद पथ को इसके साथ जोड़ेगा। इसके फर्स्ट फेज का कार्य पूरा हो चुका है। रक्षा मंत्री जी के कर कमलों से आज इसका लोकार्पण हुआ है। लखनऊ में रक्षा मंत्रालय डी0आर0डी0ओ0 की सहायता से ब्रह्मोस मिसाइल का केंद्र विकसित कर रहा है। डी0आर0डी0ओ0 के रक्षा प्रौद्योगिकी और परीक्षण केंद्र का उद्घाटन आज सम्पन्न हुआ है। यह प्रदेश के युवाओं को नए स्टार्टअप स्थापित करने और इस फील्ड में कार्य करने तथा तकनीकी संस्थानों को इसके साथ जोड़ने के लिए नये अवसर प्रदान करेगा। प्रदेश सरकार द्वारा जिन युवाओं को टैबलेट/स्मार्टफोन उपलब्ध कराए गए हैं, उनके लिए यह अच्छा अवसर होगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज के कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेंसिक साइंसेज, लखनऊ के उद्घाटन का कार्यक्रम भी सम्पन्न हुआ है। इसमें सत्र प्रारम्भ किया जा चुका है। श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी के नाम पर स्थापित अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय के लोकार्पण का कार्यक्रम रक्षा मंत्री जी के कर-कमलों द्वारा हुआ है।
ज्ञातव्य है कि आज लखनऊ रिंग रोड परियोजना के तीन खण्डों का लोकार्पण एवं कानपुर शहर की रिंग रोड परियोजना के दो खण्डों का शिलान्यास सम्पन्न हुआ। साथ ही, जनपद लखनऊ की लगभग 3,666 करोड़ रुपये लागत की 206 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया। इन विकास परियोजनाओं में ऊर्जा, आवास एवं शहरी नियोजन, गृह विभाग, चिकित्सा शिक्षा, उच्च शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, दिव्यांगजन सशक्तिकरण, कृषि, ग्रामीण विकास, उद्यान, पशुपालन, नियोजन, नगर विकास विभाग, लोक निर्माण विभाग आदि से सम्बन्धित परियोजनाएं शामिल हैं।
टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
शिक्षा और चिकित्सा हर किसी को निशुल्क मिले कुल भूषण त्यागी
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
मतदान लोकतंत्र का सबसे बड़ा पर्व है एडवोकेट अरविंद गुप्ता
चित्र
एलआईसी विश्वास और पारिवारिक सुरक्षा ,उज्जवल भविष्य और सम्मान का प्रतीक है प्रशांत वशिष्ठ,
चित्र