गुजरात से PM मोदी ने दी 85,000 करोड़ की सौगात, 10 नई वंदे भारत ट्रेनों को दिखाई हरी झंडी, कहा- 'ये 10 साल का काम अभी तो ट्रेलर है, फिल्म बाकी है!

 


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (12 मार्च) अहमदाबाद में 85,000 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न रेलवे परियोजनाओं की आधारशिला रखी। प्रधानमंत्री बाद में साबरमती आश्रम भी जाएंगे जहां वह कोचरब आश्रम का उद्घाटन करेंगे और गांधी आश्रम स्मारक के मास्टर प्लान का शुभारंभ करेंगे।गुजरात में पीएम मोदी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (12 मार्च) अहमदाबाद में 85,000 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न रेलवे परियोजनाओं की आधारशिला रखी। प्रधानमंत्री बाद में साबरमती आश्रम भी जाएंगे जहां वह कोचरब आश्रम का उद्घाटन करेंगे और गांधी आश्रम स्मारक के मास्टर प्लान का शुभारंभ करेंगे।पीएम मोदी का संबोधन

रेलवे परियोजनाओं के उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने अलग से रेलवे बजट को बंद कर दिया और इसे केंद्रीय बजट में शामिल कर लिया ताकि सरकारी पैसे का इस्तेमाल रेलवे के विकास के लिए किया जा सके। पीएम मोदी ने कहा, ''भारत एक युवा देश है, यहां एक बड़ी युवा आबादी रहती है। मैं युवाओं से कहना चाहता हूं कि आज जो उद्घाटन हुए हैं, वो आपके वर्तमान के लिए हैं। आज जो शिलान्यास हुए हैं, वो किस गारंटी के साथ आए हैं. आपका उज्ज्वल भविष्य। आजादी के बाद जो सरकारें आईं, उन्होंने राजनीतिक स्वार्थ को प्राथमिकता दी। भारतीय रेलवे उसी का बड़ा शिकार है... मैंने सबसे पहले रेलवे को सरकार के बजट में शामिल करने का काम किया, उसी फंड के कारण सरकार का उपयोग अब रेलवे के विकास के लिए किया जाता है।"

पीएम मोदी ने कहा "विकसित भारत' के लिए सुधार किए जा रहे हैं और देश के हर हिस्से में कई परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया जा रहा है। 2024 के लगभग 75 दिन हो गए हैं। इन 75 दिनों में हमने उद्घाटन और शिलान्यास किया है।" पीएम मोदी ने कहा, 11 लाख करोड़ रुपये की परियोजनाओं की आधारशिला रखी।

रेलवे का विकास विकसित भारत की गारंटी है: पीएम

पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें पहले से पता था कि रेलवे कितनी खराब थी क्योंकि उन्होंने अपना जीवन रेलवे ट्रैक पर शुरू किया है। पीएम मोदी ने कहा कि रेलवे का विकास 'विकसित भारत' की गारंटी है. उन्होंने कहा, "हम दुनिया में कहीं भी नजर डालें तो पाएंगे कि जो देश विकसित और आर्थिक महाशक्ति बने, उनमें रेलवे ने अहम भूमिका निभाई है। इसलिए, रेलवे का विकास 'विकसित भारत' की गारंटी है।" 

उन्होंने कहा कि पिछले 10 वर्षों में उनकी सरकार ने रेलवे के विकास पर पहले की तुलना में लगभग छह गुना अधिक राशि खर्च की है। विपक्ष पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि, कुछ अन्य लोगों के विपरीत, हमारे लिए विकास कार्य चुनाव जीतने के लिए नहीं बल्कि देश की प्रगति के लिए है।10 साल का काम तो सिर्फ ट्रेलर है': पीएम

प्रधानमंत्री ने कहा, "यह दिन इच्छाशक्ति का जीता-जागता सबूत है। देश के युवा तय करेंगे कि उन्हें कैसा देश और रेलवे चाहिए। ये 10 साल का काम अभी तो ट्रेलर है, मुझे तो और आगे जाना है।" 10 साल का काम अभी भी एक ट्रेलर है, मुझे अभी और हासिल करना है।")

पीएम ने अहमदाबाद में रेलवे परियोजनाओं का उद्घाटन किया

रेलवे के बुनियादी ढांचे, कनेक्टिविटी और पेट्रोकेमिकल्स क्षेत्र को बड़े पैमाने पर बढ़ावा देने के लिए, प्रधान मंत्री ने 1,06,000 करोड़ रुपये से अधिक की रेलवे और पेट्रोकेमिकल्स परियोजनाओं की आधारशिला रखने और समर्पित करने के लिए अहमदाबाद में डीएफसी के ऑपरेशन कंट्रोल सेंटर का दौरा किया।

उन्होंने रेलवे वर्कशॉप, लोको शेड, पिट लाइन/कोचिंग डिपो, फलटन-बारामती नई लाइन, इलेक्ट्रिक ट्रैक्शन सिस्टम अपग्रेडेशन कार्य की आधारशिला रखी और न्यू खुर्जा से साहनेवाल (401 मार्ग किमी) के बीच डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर के दो नए खंड राष्ट्र को समर्पित किए। पूर्वी डीएफसी का खंड और न्यू मकरपुरा से पश्चिमी डीएफसी का न्यू घोलवड खंड (244 मार्ग किमी), पश्चिमी डीएफसी का संचालन नियंत्रण केंद्र (ओसीसी), अहमदाबाद।

पीएम मोदी ने दस नई वंदे भारत ट्रेनों को दिखाई हरी झंडी

पीएम मोदी ने अहमदाबाद-मुंबई सेंट्रल, सिकंदराबाद-विशाखापत्तनम, मैसूरु-डॉ एमजीआर सेंट्रल (चेन्नई), पटना-लखनऊ, न्यू जलपाईगुड़ी-पटना, पुरी-विशाखापत्तनम, लखनऊ-देहरादून, कलबुर्गी-सर एम के बीच दस नई वंदे भारत ट्रेनों को भी हरी झंडी दिखाई। विश्वेश्वरैया टर्मिनल बेंगलुरु, रांची-वाराणसी, खजुराहो- दिल्ली (निज़ामुद्दीन)।

प्रधानमंत्री ने चार वंदे भारत ट्रेनों के विस्तार को भी हरी झंडी दिखाई। अहमदाबाद-जामनगर वंदे भारत को द्वारका तक बढ़ाया जा रहा है, अजमेर- दिल्ली सराय रोहिल्ला वंदे भारत को चंडीगढ़ तक बढ़ाया जा रहा है, गोरखपुर-लखनऊ वंदे भारत को प्रयागराज तक बढ़ाया जा रहा है और तिरुवनंतपुरम- कासरगोड वंदे भारत को मंगलुरु तक बढ़ाया जा रहा है, और आसनसोल और हटिया तथा तिरूपति और कोल्लम स्टेशनों के बीच दो नई यात्री ट्रेनें। उन्होंने विभिन्न स्थानों - न्यू खुर्जा जंक्शन, साहनेवाल, न्यू रेवाड़ी, न्यू किशनगढ़, न्यू घोलवड और न्यू मकरपुरा से डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर पर मालगाड़ियों को भी हरी झंडी दिखाई।

टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
यूपी सरकार से तंग आ चुके हैं हम, वहां जंगलराज जैसी स्थितिः सुप्रीम कोर्ट
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र