मोदी सरकारी की गलत नीतियों ने नष्ट कर दिया सहारनपुर का लकड़ी नक्काशी उद्योग- अजय राय


 प्रधानमंत्री मोदी की आज जनपद सहारनपुर में हुई रैली पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पूर्व मंत्री श्री अजय राय जी ने कहा कि मोदी जी वोकल फॉर लोकल की बात तो करते हैं, मगर सहारनपुर की लकड़ी नक्काशी उद्योग की दुर्दशा पर मौन साध लेते हैं। 200 साल पुराने इस उद्योग से सहारनपुर की पहचान थी, एक समय था जब 7 लाख लोगों का परिवार इस उद्योग सेचलता था। उस दौर में यहां से 1500 करोड़ से ऊपर का माल निर्यात होता था। दुर्भाग्य यह है कि मोदी सरकार की गलत नीतियों ने इस उद्योग को तबाह कर दिया। यहां से हो रहे निर्यात में 90 प्रतिशत तक कमी आई है।राय ने कहा कि दूसरे देशों से यूरिया के दामों की तुलना कर, मोदी जी अपने सरकार की विफलताओं को छुपा रहे हैं। सच यह है कि 45 किलो की यूरिया की बोरी अब 40 किलो की हो गई है। उर्वरकों और कीटनाशकों की बढ़ती कीमतों से खेती की लागत बढ़ गई है। मगर उ0प्र0 सरकार ने सिर्फ 5 रूपये गन्ने का एस0ए0पी0 बढ़ाकर किसानों के साथ एक भद्दा मजाक के सिवाय और कुछ नहीं किया है। उ0प्र0 में गन्ने का एस0ए0पी0 आस-पास के राज्यों में सबसे कम है।अजय राय ने कहा कि प्रधानमंत्री एक तरफ गरीबी घटाने का दावा करते हैं, दूसरी तरफ 80 करोड़ लोगों को राशन बांटने का दंभ भी भरते हैं। सच तो यह है कि देश में मोदी जी के राज में सिर्फ मुट्ठी भर उद्योगपतियों को लाभ हुआ है, उनकी सम्पत्तियां कई गुना बढ़ी हैं, और दूसरी तरफ देश की अधिकांश आबादी दो जून की रोटी के लिए भी मोहताज है।प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पूर्व मंत्री  अजय राय जी ने कहा कि प्रधानमंत्री कहते हैं कि कांग्रेस के पास राष्ट्रनिर्माण का कोई विज़न नहीं है, और दुर्भाग्य देखिए कि यह बात वह उस राष्ट्र में खडे़ होकर कहते हैं जिसका निर्माण कांग्रेस सरकारों के शासनकाल में हुआ है। सच तो यह है कि दस सालों के शासन के बाद भी मोदी जी के पास अपनी उपलब्धि बताने के नाम पर कुछ भी नहीं है।
टिप्पणियाँ
Popular posts
परमपिता परमेश्वर उन्हें अपने चरणों में स्थान दें, उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें व समस्त परिजनों व समाज को इस दुख की घड़ी में उनका वियोग सहने की शक्ति प्रदान करें-व्यापारी सुरक्षा फोरम
चित्र
पीपल, बरगद, पाकड़, गूलर और आम ये पांच तरह के पेड़ धार्मिक रूप से बेहद महत्व
चित्र
अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की आपातकाल बैठक में वर्किंग कमेटी की गई भंग सर्वसम्मति से नए अध्यक्ष चुने गए डॉक्टर अनूप श्रीवास्तव
चित्र
यूपी सरकार से तंग आ चुके हैं हम, वहां जंगलराज जैसी स्थितिः सुप्रीम कोर्ट
भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति में भी ब्राह्मणों के बलिदान का एक पृथक वर्चस्व रहा है।
चित्र